Parimatch पर वेरिफिकेशन क्यों किया जाता है?

Parimatch वेबसाइट पर, वेरिफिकेशन एक अनिवार्य प्रक्रिया है जो अकाउंट के मालिक को अपनी पहचान साबित करने के लिए करनी पड़ती है। इससे आप किसी थर्ड पार्टी को अपने अकाउंट तक पहुँचने से रोक सकते हैं। बुकी के कर्मचारी सट्टेबाज के पेमेंट अकाउंट की जानकारी जाँचते हैं और खिलाड़ी की पहचान करते हैं।

यदि प्रोफाइल किसी और की है और बिलिंग अकाउंट किसी और के नाम पर है, तो आप फंड निकाल नहीं सकते हैं।

परिमच सत्यापन

वेरिफिकेशन की प्रक्रिया

कोई भी खिलाड़ी जो बुकी के यहाँ अपनी प्रोफाइल बनाता है उसे Parimatch के वेरिफिकेशन को पास करना ज़रूरी है। अकाउंट में एक विशेष फॉर्म होता है जिसमें आपको अपने स्कैन किए हुये डोक्यूमेंट्स अपलोड करने होते हैं। किसी प्रकार की कोई गलती न हो, इसके लिए प्रश्नावली में मांगी गई जानकारी भरनी होती है। 

वेरिफिकेशन की प्रक्रिया को पास करने के लिए, सट्टेबाज एक फोटो इस्तेमाल कर सकता है या ये दस्तावेज़ स्कैन कर के भेज सकता है:

  • जनरल पासपोर्ट
  • इंटेरनेशनल पासपोर्ट
  • ड्राइवर लाइसेन्स

ये दस्तावेज़ वैध होने चाहिए, आधिकारिक सरकारी संस्था द्वारा जारी होने चाहिए। फोटोकॉपी ओरिजनल डोक्यूमेंट से ही किया जाना चाहिए।

सत्यापन प्रक्रिया

पहचान का तरीका

यदि कोई व्यक्ति कम उम्र का है (वयस्क नहीं है), तो कानूनी तौर पर उसे सट्टेबाजी का अधिकार नहीं है। इसलिए कम उम्र का व्यक्ति वेरिफिकेशन को पास नहीं कर सकता है। 

Parimatch पर री-वेरिफिकेशन की आवश्यकता नहीं है। 

Parimatch पर वेरिफिकेशन को पास करने के बाद, आपको साइट के इन फीचर्स का एक्सेस मिल जाएगा: 

  • खेलों पर सट्टा। जो प्रोफाइल वेरिफाइड हैं वे यूजर्स विभिन्न खेलों पर सट्टा लगा सकते हैं।
  • ई-स्पोर्ट्स पर सट्टा। सामान्य गेम्स के बजाय ई-स्पोर्ट्स हालही में बहुत ज़्यादा लोकप्रिय हुये हैं, Parimatch पर आप इन पर सट्टा लगा सकते हैं। 
  • प्रमोशनल ऑफर। आपको अकाउंट बनाने और इसमें बैलेंस डालने, बोनस कोड इस्तेमाल करने पर गिफ्ट्स मिलते हैं।
  • मोबाइल एप। Parimatch का इस्तेमाल करते हुये, सट्टेबाज फोन के माध्यम से सट्टा लगा सकते हैं। यह आधिकारिक वेबसाइट के समान ही है, इस पर कोई सीमा निर्धारित नहीं है।

वेरिफिकेशन का मुख्य उद्देश्य निर्धारित कानून का पालन करना है। इस प्रक्रिया से कम उम्र के लोग रजिस्टर नहीं कर सकते हैं और सट्टेबाजी से कमाई नहीं कर सकते हैं। साथ ही, वेरिफिकेशन के कारण यूजर्स का पैसा धोखाधड़ी करने वालों से पूरी तरह सुरक्षित रहता है। यदि अकाउंट वेरिफाइड न हो और अकाउंट किसी साइबर क्रिमिनल के हाथ लग जाये, तो वह सट्टेबाज के अकाउंट से राशि निकालने में सक्षम हो सकता है।

अकाउंट को वेरिफ़ाई करते समय, आपको एकदम सही जानकारी प्रदान करनी चाहिए। अन्यथा, यह प्रक्रिया काम नहीं करेगी। अपलोड किए जाने वाले डोक्यूमेंट्स की फोटो अच्छी क्वालिटी की होनी चाहिए, नहीं तो बुकी के कर्मचारी इन पर आवश्यक जानकारी नहीं देख पाएंगे। 

सट्टेबाज के अकाउंट में एक नोटिफिकेशन दिखाई देगा कि यह अकाउंट वेरिफ़ाई हो चुका है (अपलोड फॉर्म में, “Verified” मैसेज दिखाई देगा)। यदि बुकी को खिलाड़ी की कोई अन्य जानकारी चाहिए, तो उसे अतिरिक्त डोक्यूमेंट्स भी भेजने होते हैं। 

वेरिफिकेशन को नज़र अंदाज करना संभव नहीं है। यदि प्रोफाइल वेरिफाइड नहीं है, तो खिलाड़ी का सट्टा खेलने का कोई मतलब नहीं है, क्योंकि वह अपने अकाउंट से जीती हुई राशि नहीं निकाल पाएगा। 

वेरिफ़ाई करने में कितना समय लगता है?

Parimatch पर अकाउंट वेरिफिकेशन में लगने वाला समय इस बात पर निर्भर करता है कि सट्टेबाज कौनसा तरीका अपनाता है: यदि सट्टेबाज विडियो कॉल के माध्यम से यह प्रक्रिया करता है, तो निर्भर करता है कि बुकी के कर्मचारी कितने व्यस्त हैं। विडियो लिंक चैक 4-5 मिनट तक रहता है। यदि यूजर अकाउंट को स्टेंडर्ड तरीके से वेरिफ़ाई करता है (बुकी की वेबसाइट पर पोफाइल से), तो वेरिफिकेशन में कुछ मिनटों से लेकर एक घंटे तक का समय लगता है। यदि सट्टेबाज पब्लिक सर्विस वेबसाइट पर रजिस्टर्ड है, तो उसे कुछ भी करने की आवश्यकता नहीं है। आपको बुकी द्वारा ESIA से जानकारी प्राप्त करने तक 2-3 घंटे तक का इंतज़ार करना होगा।

यदि आवश्यक दस्तावेज़ न हों तो?

पहचान के दस्तावेज़ के बिना, पहचान नहीं हो पाएगी। जिन यूजर की उम्र कानूनी रूप से सट्टेबाजी के लिए वैध है और जो कुछ धोखाधड़ी नहीं करना चाहते हैं, उन्हें पासपोर्ट फोटो देने में कोई दिक्कत नहीं होगी। आप कुछ अवैध बुकियों के यहाँ बिना डोक्यूमेंट्स के सट्टा खेल सकते हैं, लेकिन आप अपने अकाउंट से जीती हुई राशि नहीं निकाल पाएंगे।